भारतीय अर्थव्यवस्था, हिंदी संस्करण (2021 -22) - संजीव वर्मा

किताब के बारे में

भारतीय अर्थव्यवस्था पर इस पुस्तक का मुख्य ध्येय संघ लोक सेवा आयोग के परीक्षार्थियों को मुख्य आर्थिक समस्याओं और मुद्दों से परिचित कराना है। संसाधनों और विभिन्न क्षेत्रों की इसी प्रक्रिया में पाठकों की विभिन्न आर्थिक क्रियाओं में सरकार की भूमिका, नीतियाँ और योजनाओं की समालोचना कर पाने में सक्षम बनाना हैं। फलस्वरूप यह आशा की जा रही है, कि एक सामान्य पाठक भी अपनी विश्लेष्षण क्षमताओं को विकसित कर आर्थिक घटनाक्रम को समझने और भारत के आर्थिक भविष्ष्य के विष्षय में अपना दृष्ष्टिकोण विकसित कर पाने में सफल होंगे। भारतीय अर्थव्यवस्था का यह संकलन बहुमूल्य तथ्यों को आगे बढ़ाने की एक महत्वपूर्ण प्रस्तुति है। इस संस्करण में लेखक ने संघ लोक सेवा आयोग के नवीनतम् पाठ्यक्रम को ध्यान में रखते हुए अनेक नए अध्याय और आँकड़े प्रस्तुत किए हैं, जिनकी परिचर्चा में आर्थिक सर्वेक्षण, सरकारी दस्तावेज और अभिलेख सम्मिलित हैं। आर्थिक प्रवृत्तियों और आर्थिक दरों की उपलब्धियों को उनकी प्रक्रियाओं और उन्हें संभव बनाने वाले कारकों के साथ समाहित किया गया है